Home POEM उसे मेरी याद आती तो होगी

उसे मेरी याद आती तो होगी

by SATYADEO KUMAR
0 comment

सत्यदेव कुमार

उसे मेरी याद आती तो होगी
वह जताती नहीं है मेरी तरह
किसी के पूछने पर मुस्कुराकर गम छिपाती तो होगी
उसे मेरी याद आती तो होगी

चौकना रहती होगी अपने गली के दरवाजे पर
उसे मेरी आने की आहट सुनाती तो होगी
पर मायूस हो जाती होगी न आने के इंतजार में
ऐसे ही दिल को रोज बहलाती तो होगी
उसे मेरी याद आती तो होगी

रात के अँधियारों में मेरी बीती -बात
चाँद-तारों में दुहराती तो होगी
कितना मुस्कुरापाती होगी मेरे गम में
अपने आँसुओ से तकिया भिगाती तो होगी
उसे मेरी याद आती तो होगी

मंजिले तो मैं तय कर रहा हूँ
पर मेरी संघर्षों पर सपने सजाती तो होगी
वो भी काबिल है मगर
मेरी काबिलियत के किस्से सुनाती तो होगी
उसे मेरी याद आती तो होगी

वो तो हमें पल -पल यादों में सताती है
ये जानकर वो मचल जाती तो होगी
और आयने में देखती होगी मेरे आने वाली सड़क को
फिर शर्माकर अपनी बिंदी लगाती तो होगी
उसे मेरी याद आती होगी

You may also like

Leave a Comment