Home SHAYARI चलें अब इश्क़ में सुरुर किया जाये

चलें अब इश्क़ में सुरुर किया जाये

by SATYADEO KUMAR
0 comment

सत्यदेव कुमार

चलें अब इश्क़ में सुरुर किया जाये

उन्हें मनाने की एक कुशूर किया जाये

मान गई तो खूद की गलती कबूल किया जाये

न समझ सकी इश्क़ के सुरुर को

तो खूद को उनसे दूर किया जाये

You may also like

Leave a Comment